मुर्गा लड़ाई स्पर्धा के दौरान, मुर्गे ने धारदार ब्लेड से अपने मालिक को ही मार डाला

तेलंगाना में घटी एक अजब गजब घटना में, एक मुर्गे ने अवैध मुर्गा लड़ाई स्पर्धा के दौरान अपने पंजों में बंधे धारदार ब्लेड से अपने मालिक को ही गंभीर रूप से घायल कर दिया जिससे उसकी मृत्यु हो गई। यह घटना तेलंगाना के लोथनुर की है और मृतक उन 16 व्यक्तिओं में से एक था जिन्होने इस अवैध स्पर्धा का आयोजन किया था।

खास तौर पर पाले जाने इन मुर्गों को इस तरह की स्पर्धा के लिए ही तैयार किया जाता है। इन मुर्गों के पंजों पर 7.5 सेंटीमीटर लंबे धारदार ब्लेड बंधे होते हैं, जो प्रतिद्वंदी को मारकर स्पर्धा जीतने के लिए होते हैं। दर्शक इन मुर्गों की जीत पर पैसे लगाते हैं। इसमें हर वर्ष हजारों मुर्गे दर्दनाक रूप से मारे जाते हैं। घटना के दौरान मुर्गा अपने मालिक के हाथों से छूटकर भागने की कोशिश में था और उसी दौरान उसने अपने मालिक को गंभीर रूप से घायल कर दिया। अधिक खून बह जाने की वजह से, करीमनगर अस्पताल पहुंचने के पहले ही व्यक्ति ने दम तोड़ दिया।

पुलिस ने मुर्गे को कुछ समय तक अपनी हिरासत में रखने के बाद उसे Poultry Farm भेज दिया। अब पुलिस इस अवैध स्पर्धा का आयोजन करने वाले अन्य आयोजकों की तलाश में है।

भारत में इस तरह की स्पर्धा पर 2015 सर्वोच्च न्यायालय ने प्रतिबंध लगाकर इसे अवैध करार दिया था। 2018 में न्यायालय ने इसमें संशोधन करते हुए पारंपरिक तौर और बिना किसी औजार के इस्तेमाल की शर्त पर इस तरह की स्पर्धा की अनुमति दी थी। प्रतिबंधों और Animal Rights Activists के तमाम कोशिशों के बावजूद भारत में कई जगहों खास कर आंध्र प्रदेश में इस खेल और स्पर्धा का आयोजन किया जाता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *