इन इंडिया, इंग्लिस इज भेरी फनी लैंग्वेज, कैसे ऊ हम बताएंगे


तो भाईयों हमारे इंडिया में जब भी कोई विदेशी चीज आती है तो उसमें थोड़ा बहुत इंडियन तड़का जरूर लग जाता है, फिर चाहे वो कोई खाने पीने की चीज हो या इस्तेमाल की कोई वस्तु। और हमारी इस काबिलियत से आज तक कुछ भी बच नहीं पाया है, फिर चाहे वो कुछ भी क्यों ना हो। तो भला इससे अंग्रेजी भाषा कैसे बच पाती, लोगों ने उसमें इंडियन तड़का लगा रखा है। वैसे ऐसा करने से दो फायदे हो गए, पहला तो ये कि हमने इंडियन तड़का लगाने की अपनी परंपरा को बरकरार रखा, और दूसरा कुछ हद तक अंग्रेजों से बदला भी ले लिया।

हमारे इंडिया में इंग्लिश के साथ इंग्लिस भी बोली जाती है, जो ससुरी इंग्लिस को भेरी फनी लैंग्वेज बना देती है। इस पोस्ट में हम आपको इस भेरी फनी लैंग्वेज की कुछ झलकियां दिखाएंगे, जिससे आपको पता चल जाएगा कि आखिर काहे इंडिया में ‘इंग्लिस इज अ भेरी फनी लैंग्वेज’ कहा जाता है।

पूरी दुनियां में बिस्किट (Biscuit) खाई जाती है, पर भारत में बिस्कुट (Biskoot) और वो भी चाय में डुबोकर

हम तो बचपन से ही यम फाॅर मैंगो पढते चले आए हैं, और बाकी दुनियां का हमने ठेका थोड़े ले रखा है, अपना यम ई सही है

अब जब पढाई की हो रही है, तो बहुत से लोगों की यन फाॅर नोज वा ना सिकुड़ गई

आप टेशनवा गए तो जरूर होंगे

चाय तो हमको पेसल वाली ही पसंद है

अब पता नाही काहे, पर आज तक हमको परमोसन नाही मिला

वैसे हम फून पे बात करते करते पूरा पारक घूम लेते हैं।

तो भईया कैसी लगी ई मजेदार अंग्रेजी आप लोगों को कमेंट कर के बता जरूर दिजिएगा, उसमें काहे की कंजूसी।

Tags – Ajab Gajab Angrezi, Ajab Gajab Angreji , अजब गजब अंग्रेजी,

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *