DRDO द्वारा विकसित Anti Covid दवाई, भारत के कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मील का पत्थर बन सकता है


भारत सरकार ने DRDO द्वारा विकसित Anti Covid दवाई को वर्ष भर की जांच के बाद आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी है। इस दवा को DRDO यानि कि Defence Research and Development Organization ने तैयार किया है। इस दवा से कोरोना मरीजों की Oxygen पर निर्भरता कम होगी और वो जल्द ठीक हो सकेंगे।

DRDO के अनुसार ये दवा 2 – Deoxy – D – Glucose (2-DG) शरीर में प्रवेश करने के पश्चात COVID से Infected Cells में प्रवेश करता है और ऊर्जा उत्पादन और वायरस का Metabolic Reaction रोक कर उसे बढने यानि कि Multiply होने से रोक देता है। DRDO के अनुसार सिर्फ Virus Infected Cells में ही प्रवेश करने की खासियत इस दवा को सबसे अलग बनाती है।

ये दवा पाउडर के रूप में आएगी और इसे पानी में घोलकर मरीज को पिलाना होगा। Research और Trials में पाया गया कि जो मरीज Oxygen के सहारे थे उन्हे इस दवा के 2 Dose प्रति दिन दिए जाने पर, तीसरे दिन ही उनकी Oxygen पर निर्भरता खत्म हो गई और जल्द ठीक भी हो गए (42%)। इस दवा को Mild और Severe परिस्थिति वाले मरीजों को भी दिया जा सकता है। इस दवा को 65 या उससे अधिक आयु के मरीजों को भी दिया जा सकता है।

इस दवा की कीमत अभी तक जाहिर नहीं की गई है, पर जानकारों के अनुसार इस दवा की कीमत 500 – 600 रुपए प्रति Sachet होगी। DRDO के अनुसार इस दवा को आसानी से बड़ी मात्रा में उत्पादित किया जा सकता है। DRDO के industry Partner Dr. Reddy’s Lab ने अस्पतालों के लिए सीमित मात्रा में इसका उत्पादन भी शुरू कर दिया है। अभी ये दवा खुदरा दवाई की दुकानों पर उपलब्ध नहीं कराई जाएगी, इस बात की जानकारी DRDO ने दी।

Tags – DRDO Produced Anti Covid Drug

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *